World Smile Day 2022 | वर्ल्ड स्माइल डे क्यों मनाया जाता है?

India smile day 2022 | World smile day 2022 theme | World smile day 2023 | World smile day activities | essay on world smile day | world smile day 2022 images

नमस्कार दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हम लोग जानेंगे कि वर्ल्ड स्माइल डे (World Smile Day Kyu Manaya Jata Hai) क्यों मनाया जाता है आखिर इसके पीछे का क्या कहानी है इन सभी के बारे में आज के इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं इसलिए आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें

Subscribe YoutubeClick Here
Telegram JoinClick Here
Follow on TwitterClick Here

World Smile Day 2022 | आपकी मेंटल-फिजिकल हेल्थ को ढाई गुणा बेहतर बना सकती है ढाई इंच की मुस्कान, मुस्कुराना आपके चेहरे की 43 मांसपेशियों की साझा मेहनत है और इसका लाभ आपके समग्र स्वास्थ्य को मिलता है। मस्तिष्क से लेकर हार्ट तक, भला कौन है जो मुस्कुराना नहीं चाहता। इसलिए हस्ते रहें। चलिए जानते हैं कि World smile day kyu manate hai.

वर्ल्ड स्माइल डे क्यों मनाया जाता है?

World Smile Day 2022

World Smile Day 2022

मुस्कुराना आसान नहीं हैं। पर जब कोई मुस्कुराता है, तो उसकी मुस्कान आसपास के लोगों को अपनी चपेट में ले लेती है। यानी स्माइल (Smile) किसी भी वायरस से ज्यादा तेजी से फैल सकती है और खराब मूड को भी अच्छा कर सकती है। आपके होंठो की खूबसूरत मुस्कान से लेकर सोशल मीडिया की दुनिया में मुस्कुराने वाले इमोजी (Emoji) तक, आइए जानते हैं मुस्कान की इस यात्रा और सेहत पर होने वाले इसके फायदों के बारे में। वर्ल्ड स्माइल डे (World Smile Day 2022), सिर्फ मनाने का नहीं, असल में मुस्कुराने का दिन है।

World Smile Day Kyu Manate Hai

कैसे हुई विश्व मुस्कान दिवस की शुरुआत (World Smile Day) चलिए जानते है है इसके पीछे की कहानी, एक छोटा सा पीले रंग का वृत्त और उसमें चमकती काले रंग के बिंदुओं वाली दो आंखें, साथ ही अर्धवृत्ताकार लंबी खिंची मुस्कान। स्माइल का यह सबसे आकर्षक प्रतीक अब दुनिया भर में लोकप्रिय हो चुका है। आपकी टीशर्ट, वॉल पेपर, मग और मैसेंजर के कीपैड में बैठे बेशुमार स्माइली मुस्कान की दुनिया का दिनों दिन विस्तार कर रहे हैं।

पर क्या आप जानती हैं कि इस साधारण किंतु अद्भुत प्रतीक को हार्वे बॉल नाम के एक एडवर्टाइजर ने 1943 में बनाया था। हालांकि उनका उद्देश्य प्रतीक से बाहर जाकर दुनिया भर में मुस्कान को फैलाना था। पर उनकी मंशा के विपरीत यह मुस्कान उत्पादों पर जितनी चिपकती गई, चेहरों से उतनी ही उतरती चली गई। अंतत: 1999 में अक्टूबर के पहले शुक्रवार को विश्व मुस्कान दिवस के नाम कर दिया गया। ताकि हम सभी को मुस्कुराने के लिए एक खास दिन और मिल सके।

Happiness is the Medicine of Life

मुस्कुराने या हंसने का क्या महत्व है इसके लिए हर साल 7 अक्टूबर को वर्ल्ड स्माइल डे मनाया जाता है. बिजी लाइफ में स्ट्रेस या अन्य चीजों के चलते मुस्कुराने के मौके कम मिलते हैं, लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि हम मुस्कुराना ही बंद कर दें. जीवन में कठिनाइयां आती हैं और जाती हैं, लेकिन अपने और दूसरों के लिए समय निकालकर मुस्कुराना भी बेहद जरूरी है. स्माइल या हंसना एक हेल्थ ट्रिक है और ये तरीका हमें रिलैक्स भी फील कराता है. वैसे रिलेशनशिप में समय बीतने के साथ चीजें बहुत बदल जाती है और अधिकतर लोग मुस्कुराना बंद कर देते हैं.

क्या आप जानते हैं कि आप रिलेशनशिप में छोटे छोटे तरीकों को अपनाकर पार्टनर के चेहरे पर मुस्कुराहट ला सकते हैं. वर्ल्ड स्माइल डे के मौके पर हम आपको कुछ ऐसे ही ट्रिक्स के बारे में बताने जा रहे हैं. वैसे करवा चौथ का त्योहार करीब है, ऐसे में ये तरीके रिलेशन में बॉन्डिंग को और मजबूत कर सकते हैं.

गुलाब दें

पूरे दिन काम से घर लौटने के दौरान साथ में एक गुलाब ले जाएं. पार्टनर को सरप्राइज में रोज गिफ्ट करें. जीवनसाथी के चेहरे पर आई मुस्कुराहट आपके रिलेशन में पॉजिटिविटी लाएगी. शादी से पहले गुलाब देना आम होता है, लेकिन अधिकतर इस तरीके को अपनाना बंद कर देते हैं. बीच-बीच में ये ट्रिक अपनाएं और खुश रहें.

गले लगाएं

हम सभी जिम्मेदारियों के बोझ में इतना दब गए हैं कि एक-दूसरे को गले लगाना तो दूर साथ बैठकर समय भी देना आज मुश्किल हो गया है. वैसे पार्टनर को गले लगाने के तरीके में आपका ज्यादा टाइम खराब नहीं होगा और यकीन मानिए ये तरीका उसके चेहरे पर स्माइल को ला सकता है.

गिफ्ट दें

गिफ्ट एक ऐसी चीज है जो न चाहते हुए भी सामने वाले को मुस्कुराने या खुश होने पर मजबूर कर सकती है. ये भी देखा गया है कि ज्यादातर लोग शादी होने के बाद सालगिरह या खास मौके पर गिफ्ट देते हैं. आप बिना किसी वजह के पार्टनर को गिफ्ट देकर देखें. रिलेशन में आई पॉजिटिविटी कई चीजों को सुधार सकती है.

World Smile Day Kyu Manaya Jata Hai

मुस्कान आपकी सेहत के लिए किसी टॉनिक से कम नहीं है, मुस्कान सबसे प्यारा और सबसे सुलभ टॉनिक है। जब आपसे कोई मुस्कुरा कर मिलता है, तो आपका चेहरा भी अपने आप खिल उठता है। यही स्माइल की पॉवर है और इसे हम अपने साथ लेकर पैदा होते हैं। ये बात और है कि जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है हमारा मुस्कुराना कम होता जाता है।